मुम्बई के नजदीक मेरी रिहाइश ..लेखन मेरे अंतर्मन की फरमाइश ..

बार बार निवेदन के बाद भी अधूरी कहानी इस मंच द्वारा डिलीट नहीं की जा रही है और मंच के नियमों से असहमति होने के कारण मैं और कोई पोस्ट नहीं कर रहा हूँ . इसलिए पाठकों से निवेदन है कि मेरी लिखित ' आजादी ' व ' इंसानियत - एक धर्म ' नाम से अधूरी कहानी को पढ़कर समय नष्ट न करें ! धन्यवाद !

Read More

आतुर हूँ मैं तुम्हें अपना रंजो गम सुनाने को
और तुम कहती हो मुझे खुद को भूल जाने को
अब तो हसरत है निकले दम तेरी ही बांहों में
खोके तुझमें ही भूल जाऊं मैं जमाने को

🌹🌹🌹🌹🌹
#आतुर

Read More

ऊबड़ खाबड़ ,टेढ़ा मेढा
मुश्किल भरा है जीवन पथ ।
सदाचार ,कर्तव्य बना ले ,
सुख से बढ़ेगा जीवन रथ ।।

#टेढ़ा -मेढ़ा

थाम के हाथ मेरा झटकना यूँ गलत है
करके मुझसे वादा भटकना यूँ गलत है
तुम ही हो समाई मेरी साँसों में इस तरह
अब नब्ज दबाना मेरा तेरा यूँ गलत है
#गलत

Read More

शिकवा नहीं है कोई ,न है कोई गीला
मन की सभी ख्वाहिश कभी पूरी नहीं होती
किस्मत जो साथ देती सुन ले मेरे महबूब
तेरे और मेरे बीच ये दूरी नहीं होती
🌷🌷🌷🌷🌷
#गीला

Read More

तीक्ष्ण हैं नजरें और उष्ण है मन
तेरे इसी रूप के दीवाने हैं हम
चंदा चकोर सी है जोड़ी हमारी
तू है शमा तो परवाने हैं हम
#उष्ण

Read More

जोरदार ढंग से उन्होंने अपनी बात कही ,
न खाता न बही , हम जो कहें वही सही !
😂😂



#जोरदार

भ्रष्ट लोग हैं , भ्रष्ट हैं अफसर ,भ्रष्ट है पूरा तंत्र !
नाश करो भ्रष्टाचारी का ,विकास का यही मंत्र !!
#भ्रष्ट

Read More