फूल खिलते हैं, लोग मिलते हैं
मगर
पतझड़ में जो फूल मुरझा जाते हैं
वो बहारों के आने से खिलते नहीं
कुछ लोग एक रोज़ जो बिछड़ जाते हैं
वो हजारों के आने से मिलते नहीं
उम्र भर चाहे कोई पुकारा करे उनका नाम
वो फिर नहीं आते...

Read More

मौसम आज तो बड़ा बेक़रार है
ऐसे में मुझे तेरा इंतज़ार है
कर ले इश्क़बाजीयां दिन ही चार है
दिन ही चार है
खोया खोया रहता है तेरी ही बेक़रारी में बेचारा
है अपना दिल तो.. आवारा

Read More

दूरियाँ.. दे मिटा
जो भी है.. दरमियाँ
आज कुछ ऐसे..मिल
एक हो.. जाये जान
भर मुझे.. बाहों में
ले डूबा.. चाह में
प्यार कर.. तू बेपनाह
खत्म बेचैन
रातो के
हो सिलसिले
यूँ लगा ले.. मुझे
आज अपने गले
तोड़ हर बंदिशें
आज मुझ में उतर
चल चले अपने घर
हम सफर

Read More

लो थाम .. लो ये
लम्हों के धागे
हम चल.. पड़े हैं
सपनों से आगे
रास्ता ये..है कठिन पर
इस सफर में... कभी
ना होगी कोई अब दूरियां
जादू है नशा है
मदहोशीयां
तुझको भुलाके अब जाऊ कहां

Read More

तुम मसर्रत का कहो या इसे ग़म का रिश्ता
कहते हैं प्यार का रिश्ता है जनम का रिश्ता
है जनम का जो ये रिश्ता तो बदलता क्यों है...!

Read More

अदा,
नशा ,
नजर,
बदन
सब कुछ तेरे पास है
मगर तू वो घटा नहीं जिसकी मुझे प्यास है
एक जाम ढूँढता हूँ महकशी के लिए
दुनिया हसीनों का मेला
मेले में ये दिल अकेला
एक दोस्त ढूँढता हूँ मैं दोस्ती के लिए

Read More

चाहा तुझे दिलने मेरे, तो सांसों ने धोखा दिया
तेरा हुआ यूं इस तराह, की मुझसे हुआ मैं जुदा
संग ले गया तू फिर मेरे, जीने की सारी वजाह
तेरी खलिश, तेरी खला, को दिल में यू दी है ..जगह
मुझमें ही तु रहे.. यूं सदा,
आदत हैं तु बुरी या सजा
तुझ बिन भी तु लगे..लाजमी
बेहद हैं ये मेरी आशिक़ी...!!

Read More

આજની નવી શોધ:
કાગડો ગમે તેટલું બોલે
પણ મેહમાન આવવાના નથી.

આઠ લાખ માણસ કોરોનાને લીધે મરી ગયા,
પણ એકેય ભુત બનીને ચીનના રાષ્ટ્રપતિ જિનપિંગનું ગળુ નથી દબાવતા..
ને કુટુંબને નડવુ હોય તો તરત ધુણવા મડે..
મને તો ભુત ઉપરથી વિશ્વાસ ઉઠી ગ્યો.
🤨☠️☠️☠️☠️🤨

Read More

દિલનો હું ખુબ ભોળો માણસ છું જીભની ગેરંટી ના આપી શકું.😈😂😝