Hey, I am reading on Matrubharti!

उम्र भर इंतेजार कर लेंगे,
सिर्फ कुछ पल चुरा लो अपनी जिन्दगी से
हमारे लिए 💗

-Veena

शीशे मे थी तो कितनी शांत लगी,
गले से उतरते ही शैतान बन गई।
शराब चीज ही निराली है।

-Veena

कदर तो वो होती है, जो किसी की मौजूदगी मे हो।
किसी के जाने के बाद , जो हो उसे पछतावा होता है।

-Veena

हमारी नियत हमेशा से साफ थी,
गंद तो देखने वाले की आंखो से निकली।

-Veena

उम्मीद को देखने के लिए आखों की जरूरत नहीं।
आपका विश्वास ही काफी है।

-Veena

अंधेरों से कह दो,
वो बचपन था जब तुझसे डर लगता था।
ये जवानी है, जो तेरे साथ सुकून लाती है।

-Veena

दिल मे उन्हे ऐसा छुपाया,

कब से धूड़ रहे है ?
कही मिल ही नही रहा।🤔

-Veena

जब भी आंखे खोलो एक नई उम्मीद से खोलना,
तुम्हारी गलतियां गुजरे हुए कल मे थी, जो वापस नहीं आएगा।

-Veena

पहली किरण, पहली धूप, पहली ठंडी हवा सी आना।
छुपा लूं इन निगाहों में तुम्हे तुम साथ वो प्यार भरी नजर लाना।

-Veena

Read More

आ गई है वो आपसे मिलने।

"अनोखी दुल्हन ( शुरुवात ) - (वो आ गई) 3" by Veena read free on Matrubharti
https://www.matrubharti.com/book/19907183/unique-bride-start-she-has-arrived-3