समाज में दिखाई देने वाली विसंगतियों पर मन में उपजे भावो को शब्दों के रूप में ढालने का शौक कब लेखन में बदल गया, पता ही नही लगा ...... वर्तमान में फेस बुक के विभिन्न समूहो, विशेषकर नया लेखन नए दस्तखत लघुकथा - गागर में सागर और वेब साइट्स ओपन बुक्स ऑन लाइन पत्रिका रचनकार हस्ताक्षर प्रितिलिपि आदि पर लेखन। वेब पत्रिका जय विजय प्रयास सेतु अनुक्रमणिका और अनहद कृति में समय समय पर रचनायें शामिल। कई हिंदी संकलनों का हिस्सा बनने के अतिरिक्त साहित्यिक पत्रिकाओं में प्रकाशन...........

| 💢 राम नवमी पर्व
की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ. . . || 💢

द्वापर युग में कृष्ण कहाये, त्रेता युग श्री राम।
पाप मुक्त हो धरा हमारी, उनके ये सत काम।
धर्म-कर्म ही सबसे श्रेष्ठ, हमको ये समझाया।
राम-नाम में जीवन सिमटा, है उनको प्रणाम।

प्रथम अर्चना "प्रभु राम" की, वंदन बारम्बार।
हर दुःख से प्रभु मुक्त करें, कृपा करें अपार।।
समस्त धरा-संसार में, #राम_नाम अनमोल।
जन्म-मरण का साथ है, है सृष्टि का आधार।।

🏹 #जय_श्री _राम 🏹

🍀 // वीर // 🍀

Read More

होलिका जली है हर युग में, इक बुराई बनकर।
प्रह्लाद बचा है सदा सच्चाई का प्रतीक बनकर।
खुशी मिले प्रह्लाद जैसे, दुःख जले होलिका से।
इतनी सी कामना है, आज #होलिका दहन में।

शुभ प्रभात. . . 🌾🌾🌾🌾

आप सभी को होली की हार्दिक शुभकामनाएं।

/वीर/

Read More

'राम' तपस्या राम साधना राम सांसारिक ज्ञान है।
राम आराध्य राम अर्चना राम ही हर तन-प्राण है।
व्यथा-वेदना सब मिटे राम-नाम जब मन में आए,
जीव-जीव में राम बसे 'श्री राम' ही खेवनहार हैं।

/वीर/

Read More

जिदंगी का एक बेहतरीन और गहराई लिए दास्तां. . .

#_गुनाहों_का_जमीन

/वीर/

गुनाहों की ज़मीन (Hindi Edition) https://www.amazon.in/dp/B08YK3DPVK/ref=cm_sw_r_u_apa_17KDRM5RJ2N1R2BE0KTD

Read More

सिर्फ़ एक दिन ही क्यों,
हर दिन की, एक पहचान है नारी।

बेटी, मां, बहन बन कर,
हर घर-परिवार में, आधार है नारी।

नहीं कमज़ोर कहीं किसी-ओर,
रिश्तों की डोर, और सम्मान है नारी।

जमीं से आसमां तक, हर जगह
समस्त संसार की, अब शान है नारी।

सिर्फ़ एक दिन ही क्यों,
हर दिन की, एक पहचान है नारी।

/वीर/

#नारी_दिवस_की_शुभकामनाएं !

🥀🥀 HAPYY WOMEN'S DAY 🥀🥀

Read More

किसी एक ख़्वाब के टूटने के बाद,

दूसरा ख़्वाब देखने की हिम्मत को ही

जीना कहते हैं. . . ! !

🥀शुभ प्रभात🥀

🌾 ☀️have a nice day ☀️ 🌾

/वीर/

Read More

इंसान की फ़ितरत भी कमाल है;
काल्पनिक फिल्मों में लोगों का #अभिनय देख कर रो पड़ता है,
और
वास्तविक जीवन में लोगों के दुःख
को #अभिनय समझ कर उन्हें नजरअंदाज कर देता है. . . !

💝🌴 बात दिल की 🌴💝

/वीर/

Read More

JUST
A WORD,
A TEXT,
A SONG,
A MISTAKE,
A LIE,
A TRUTH & JUST A PERSON
. . . COULD CHANGE YOUR MOOD IN;

JUST A SECOND !

// VEER //

#वसंत_पंचमी_2021
बसंत पंचमी का महत्व धार्मिक दृष्टि के साथ प्राकृतिक दृष्टि से भी विशेष माना जाता है। हमारे भारतीय पंचांग में छह ऋतुएं होती हैं और इनमें वसंत को ऋतुओं का राजा कहा जाता है।
वसंत को फूलों के खिलने का त्योहार भी कहा जाता है। सर्दी के ठंडे मौसम के बाद प्रकृति की छटा देखते ही बनती है और प्रकृति जहां तहां सरसों के पीले फूलों, वृक्षों पर आए अलग-अलग रंगो के फूलों और चारों तरफ हरियाली भरे वातावरण के बीच इस मौसम को खुशनुमा बना देती है। मनुष्य के साथ-साथ पशु-पक्षियों में भी नई चेतना का संचार होता है। और इस तरह ये ऋतु हर किसी के लिये ख़ास बन जाती है।. . .
प्रकृति के इस अनोखे पर्व पर #माँ_सरस्वती आप सभी के जीवन में अज्ञानता का अंधकार दूर करते हुये ज्ञान के प्रकाश का संचार करें, इसी कामना के साथ वसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं. . .

💐💐🌿🌿🌻🌻🌻🌻🌿🌿💐 💐

//वीर//

Read More

यह विचार पूर्णतयः निर्रथक है कि #आशा या #निराशा जीवन में स्थाई रहेगी। ये तो मात्र एक छाया की तरह हैं, जो निरंतर एक दूसरे का पीछा करती रहती हैं।
// वीर //

🌱।। शुभ प्रभात ।। 🌱

-VIRENDER VEER MEHTA

Read More