मैं आजाद भारत की खुली विचारधारा का हिस्सा हूँ.

अपनी विरासत को बचाना है
देश को सुरक्षित बनाना है।
#विरासत

विलक्षण परिवर्तन के ही लक्षण है
जो मानव कल्याण का ही दर्पण है।
#विलक्षण

उत्साही है दिल आज
थोड़ा तो बहकने दो
बिना पंख मुझे
आज उड़ने तो दो।
#उत्साही

गलत का विरोध
सही होकर करना चाहिए
गलत होने से
खुद भी बचना चाहिए।
#गलत

सूखे जख्मों को
उसने फिर हरा कर दिया
मेरी प्यास को
मोहब्बत से गीला कर दिया।
#गीला

मुझमें जो उष्ण है
उसमें तेरी शीतलता चाहिए
थोड़ी सी भीगी मुस्कुराहट
हमें भी चाहिए।
#उष्ण

बातें तुम्हारी इतनी
जोरदार होनी चाहिए
सामने वालों की तालियों में
गड़गड़ाहट शानदार होनी चाहिए।
#जोरदार

विशाल हृदय रखकर
सब बातें भूल जाओ
सबको गले लगाओ
अपना बनाओ।
#विशाल

अधिकतम पाकर भी
जिंदगी न्यूनतम होनी चाहिए
जीने के लिए तो बस
जिंदगी सर्वोत्तम होनी चाहिए।
#अधिकतम

मूर्ख दुसरो को समझकर
कब तक खुद को मूर्ख बनाओगे
जब खुद में झांकोगे तो
सत्य को समझ जाओगे।।
#मूर्ख