वसुधैवकुटुम्बकम

🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
भले नयन से धार नीर की बही है।
मन की प्रित किसी से न कही है।।
दुनिया भले कृष्ण को छलिया कहे।
राधा ,कृष्ण की चाहत सदा रही है।।
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
-!~कृष्णा~!

Read More

बात तो सही कही मुस्कुराने की।
कसम उठाली प्रेम निभाने की।।
लड़ने का क्या है सनम इश्क़ में।
हमनें ठानली तुम्हें जिताने की।।

-!~कृष्णा~!

Read More

*दो मीठे बोल बोलने से किसी का खून बढ़ जाये तो वो भी एक प्रकार से रक्तदान ही है*

*सुप्रभात*🌹🌹🌹

-!~कृष्णा~!

गम हमे भी है कायर शत्रु के खेमे में जा आया।
कभी अपनो का हुआ नही जा सुअर खा आया।।
पानी कम गिरने से किसानों की फसले खराब हैं।।
अय्यर के पाक जाने से लगता है नस्ले ख़राब हे।।

-!~कृष्णा~!

Read More

खेरत की बात मत
करना इन मकारों की ,
अपने वाले को मिटा के
बैठे इन हत्यारों की ।
राणा जैसे रोटीयाँ सेख
लेते रखकर भालों पर,
दो चार तमाचे जङ दो
इनके गोरे-गोरे गालों पर ।

-!~कृष्णा~!

Read More

🌹💜🤍💚🖤🧡💛💖🌹
*_अटल होना_*
_दुनिया सिमट जायेगी आप के लिए,_
_सच कहूँ तुम जीवन मे सरल होना।_
_परिश्रम में कोई अवरोध उत्पन्न न हो ,_
_सच कहूँ तुम जीवन में अविरल होना।_
_हर कोई खींचा चला जायेगा पास तेरे,_
_सच कहूँ तुम जीवन में निश्छल होना।_
_यदि तुम कलयुग में मुँह लटकाए हो,_
_सच कहूँ तुम जीवन में प्रचल होना।_
_गलत भावों की प्रयुक्ति डिगा न सके,_
_सच कहूँ तुम जीवन में अटल होना।_
💝💝💝💝💝💝💝💝💝
*_🌹✍🏻ॐ~!~कृष्णा~!~ॐ ✍🏻🌹_*
💚🤍💜💙🤎💛🧡🖤💚

-!~कृष्णा~!

Read More

*इतना सरल नहीं हैं सफल होना,*
*लाखों लोगों से "अलग सोचना और करना" पड़ता हैं सफल होने के लियें.....!!*
*सुप्रभातम*🌹🌹🌹

-!~कृष्णा~!

Read More

*खुश रहना चाहिये इसीलिए नहीं कि... आपके पास खुश रहने का कारण है, बल्कि...*
*इसलिए कि दुनिया को रत्ती भर फर्क नहीं पड़ता, आपकी परेशानियों से..!!*

*शुभ प्रभात🌹🌹🌹*

-!~कृष्णा~!

Read More

⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳⛳
*चंदन की शीतलता की है अनुपम सुगन्ध।*
*नन्हें राम - कन्हाई मुस्काते जैसे मंद-मंद।।*
*प्रभु की शरण में सभी द्वारा खुले मित्रों।*
*बिन पूछे जाओ क्यों पालो अंतर्मन में द्वंद।।*
⛳⛳⛳⛳⛳⛳

-!~कृष्णा~!

Read More

निहित न निज स्वार्थ मेरा।

प्रेम परिभाषिक अर्थ मेरा।।

युगल तुम चारुता का कण।

त्वरित कर दूँ परमार्थ तेरा।।
-!~कृष्णा~!

Read More