कहानियां आपके और मेरे अतीत से ही बनती हैं,उन्हें काग़ज़ पर उतारने के लिये,बस ज़रा याददाश्त को खुरचना पडता है।