लिखने को तो तेरा नाम यहा भी लिख देते , पर लोग तेरा नाम पढ़े ये मुजे मंज़ूर नही

    • (3)
    • 74