Hey, I am on Matrubharti! संसार में अनगिनत लोग है।मेरी रचनाएँ इत्तफ़ाक़ से किसी के चरित्र से मेल कर सकतीं है।यदि ऐसा होता है तो मैं क्षमा प्रार्थी हूँ।मेरा उद्देश्य किसी को दुख पहुँचाना नहीं है🙏🙏🙏🙏🙏 आप सब का स्नेह ही हमारी अमूल्य धरोहर है ।