Bada Lutfa tha Jab Kunvare the... by Ashok Mishra in Hindi Humour stories PDF

बड़ा लुत्फ़ था जब कुंवारे थे...

by Ashok Mishra in Hindi Humour stories

कुंवारेपन की तो बात ही कुछ और है। कितना मजा आता था! न कोई बंदिश, न कोई झंझट, न बीवी की चिखचिख, न मियां जी के मोजे खोजने की कवायद। यह व्यंग्य एक मियां-बीवी के अतीत का झरोखा है। ...Read More