Nadan dil - 1 by Divya Sharma in Hindi Novel Episodes PDF

नादान दिल - 1

by Divya Sharma Matrubharti Verified in Hindi Novel Episodes

वक्त किसी के लिए नहीं रुकता स्वप्निल। हाँ निशा!सच में वक्त से बड़ा बेवफा कोई नहीं। निराशा से स्वप्निल ने आह् भरी।एक खामोशी पसर गई दोनों के बीच।श्वेत धवल चाँदनी में निशा आँखों को भिगोती...सुबकती रही।स्वप्निल उसे तसल्ली ...Read More