Phir bhi Shesh - 1 by Raj Kamal in Hindi Love Stories PDF

फिर भी शेष - 1

by Raj Kamal Verified icon in Hindi Love Stories

हिमानी अंदर से दरवाज़ा बंद करना भूल गई थी। जैसे ही नशा टूटा, सुखदेव को हिमानी की देह की तलब लगी तो जा घुसा उसके कमरे में। भयभीत हिरनी—सी हिमानी फटी—फटी आंखों से अंधेरे में उसे ताक रही थी। ...Read More