‘बाला’ फिल्म रिव्यू - आयुष्मान का जादू फिर चलेगा..? 

by Mayur Patel Verified icon in Hindi Film Reviews

एक जैसे विषय पर बनी ‘ट्विन’ फिल्मों का एक ही समय पर रिलिज होने का किस्सा बोलिवुड में कोई नई बात नहीं है. 1993 में सुभाष घई की ‘खलनायक’ (सुपरहिट) के पीछे पीछे आई ‘खलनाईका’ (सुपरफ्लॉप) के सब्जेक्ट में ...Read More