Dhalva Loha by Deepak sharma in Hindi Humour stories PDF

ढलवाँ लोहा

by Deepak sharma in Hindi Humour stories

ढलवाँ लोहा “लोहा पिघल नहीं रहा,” मेरे मोबाइल पर ससुरजी सुनाई देते हैं, “स्टील गढ़ा नहीं जा रहा.....” कस्बापुर में उनका ढलाईघर है : कस्बापुर स्टील्ज़| “कामरेड क्या कहता है?” मैं पूछता हूँ| ढलाईघर का मैल्टर, सोहनलाल, कम्युनिस्ट पार्टी ...Read More