In the arena of service ... by Suryabala in Hindi Humour stories PDF

देश-सेवा के अखाड़े में...

by Suryabala in Hindi Humour stories

सूर्यबाला यह खबर चारों तरफ आग की तरह फैल गई कि मैं देश-सेवा के लिए उतरने वाला हूँ। जिसने सुना, भागा आया और मेरे निर्णय की दाद दी। सुना, आप देश-सेवा के लिए उतर रहे हैं। ईश्वर देश का ...Read More