thief (satire) by Alok Mishra in Hindi Humour stories PDF

चोर (व्यंग्य )

by Alok Mishra Matrubharti Verified in Hindi Humour stories

चोर (व्यंग्य ) नोखेलाल जी रोज ही शाम को टहलने निकलते हैं । कभी-कभी हम से उनकी मुलाकात हो जाती है । साठ की उम्र को पार करते अनोखेलाल अपने नाम को चरितार्थ करते हैं । वे आज ...Read More