debate debate by किशनलाल शर्मा in Hindi Humour stories PDF

बहस--परिचर्चा

by किशनलाल शर्मा Matrubharti Verified in Hindi Humour stories

गांव की चौपालों और गली मोहल्लों के चबूतरों से निकलकर बहस टी वी चैनलो पर जा पहुंची है।आज कोई भी न्यूज़ चैनल बहस यानी परिचर्चा से अछूता नही है।धर्म,राजनीति,खेल,फ़िल्म, भ्रष्टचार, सरकारी की नाकामी अनगिनत विषय है।साइन बाग़ खूब चला।फिर ...Read More