Come back to the buddhu home - (Part 2) by किशनलाल शर्मा in Hindi Humour stories PDF

लौट के बुद्धू घर को आये - (पार्ट 2)

by किशनलाल शर्मा Matrubharti Verified in Hindi Humour stories

सालों पुरानी बात है।चार दशक से ज्यादा हो गए।जून का महीना था।मई और जून तोसुबह धूप निकलते ही गर्मी का प्रकोप बढ़ने लगता जो दिन बढ़ने के साथ मे बढ़ता जाता।दोपहर होते होते तो लू के थपेड़े चलने लगते।ऐसी ...Read More