Kota - 16 by महेश रौतेला in Hindi Novel Episodes PDF

कोट - १६

by महेश रौतेला Matrubharti Verified in Hindi Novel Episodes

कोट-१६मैं नियमित रूप से वर्षों से दूरदर्शन पर रंगोली देखता हूँ। मैं कोट को कसकर पकड़े था। उस दिन एक गाना आ रहा था-"प्यार के लिएचार पल कम नहीं थे,कभी हम नहीं थे,कभी तुम नहीं थे...।"दस साल में तकनीकी ...Read More


-->