Maalgaadi ka Safar - 3 - last part by शिव प्रसाद in Hindi Humour stories PDF

मालगाड़ी का सफ़र - 3 (अन्तिम भाग )

by शिव प्रसाद in Hindi Humour stories

भाग - ३ ( अन्तिम भाग ) मालगाड़ी को रुके कुछ देर हो चुकी थी, लेकिन डिब्बे के भीतर की शून्यता शायद विनोद के दिमाग में भी फैल गई थी । इसीलिए झटके और धक्कों का थम जाना वह ...Read More