कुछ ख्वाहिशें कहनियों मे , आप को कुछ ख्वाहिशें पढ़ने को मिलेगी l कुछ सपने जो हम देखते हैं , हम किसी कारण पुरे नहीं कर पाते l जो हमारी ख्वाहिशें बन जाती है l

    • 927
    • 801
    • (15)
    • 1k
    • (13)
    • 1.4k
    • (14)
    • 1.2k
    • (18)
    • 1.4k
    • (15)
    • 1.3k
    • (16)
    • 2k
    • (15)
    • 1.3k
    • (21)
    • 2.1k