पंकज सुबीर प्रकाशित पुस्तकें ये वो सहर तो नहीं (उपन्यास- भारतीय ज्ञानपीठ), अकाल में उत्सव (उपन्यास, शिवना प्रकाशन), जिन्हें जुर्म-ए-इश्क़ पे नाज़ था (उपन्यास, शिवना प्रकाशन), ईस्ट इंडिया कम्पनी (कहानी संग्रह-भारतीय ज्ञानपीठ), महुआ घटवारिन (कहानी संग्रह- सामयिक प्रकाशन), कसाब.गांधी एट यरवदा.इन (कहानी संग्रह- शिवना प्रकाशन), चौपड़े की चुड़ैलें (कहानी संग्रह- शिवना प्रकाशन), होली (कहानी संग्रह- शिवना प्रकाशन), यायावर हैं, आवारा हैं, बंजारे हैं (यात्रा संस्मरण- शिवना प्रकाशन), अभी तुम इश्क़ में हो (प्रेम संग्रह- शिवना प्रकाशन) नई सदी का कथा समय (संपादन), विमर्श- नक़्क़ाशीदार केबिनेट (संपादन), बारह चर्चित कहानियाँ (संपादन), विमर्श दृष्टि (संपादन)। संकलन में युवा पीढ़ी की प्रेम कथाएँ (कहानी संकलन- भारतीय ज्ञानपीठ, संपादन श्री रवीन्द्र कालिया), नौ लम्बी कहानियाँ (कहानी संकलन- भारतीय ज्ञानपीठ, संपादन श्री रवीन्द्र कालिया), लोकरंगी प्रेमकथाएँ (कहानी संकलन- भारतीय ज्ञानपीठ, संपादन श्री रवीन्द्र कालिया), एक सच यह भी (कहानी संकलन- सामयिक प्रकाशन, संपादन श्रीमती मधु अरोड़ा), हिन्दी कहानी का युवा परिदृश्य (कहानी संकलन-सामयिक प्रकाशन, संपादन श्री सुशील सिद्धार्थ), हँसते-हँसते रोना (व्यंग्य संकलन, संपादन डॉ. प्रेम जनमेजय), उत्तर समय की प्रेम कहानियाँ (संपादन शैलेन्द्र सागर), कथा मध्यप्रदेश (संपादन श्री संतोष चौबे), इक्कीसवीं सदी की इक्कीस कहानियाँ (नेशनल बुक ट्रस्ट, संपादन अनंत विजय), सात रंग सोलह अफ़साने (संपादन धीरेंद्र अस्थाना), कहानी है कि ख़त्म नहीं होती (सुभाष नीरव) । सम्मान एवं पुरस्कार कहानी चौपड़े की चुड़ैलें को राजेन्द्र यादव हंस कथा सम्मान 2016। उपन्यास ये वो सहर तो नहीं को भारतीय ज्ञानपीठ द्वारा वर्ष 2009 का ज्ञानपीठ युवा पुरस्कार। उपन्यास ये वो सहर तो नहीं को इंडिपेंडेंट मीडिया सोसायटी (पाखी पत्रिका) द्वारा वर्ष 2011 का स्व. जे. सी. जोशी शब्द साधक जनप्रिय सम्मान। उपन्यास ये वो सहर तो नहीं को मप्र हिन्दी साहित्य सम्मेलन द्वारा वागीश्वरी पुरस्कार। कहानी संग्रह ईस्ट इंडिया कम्पनी वर्ष 2008 में भारतीय ज्ञानपीठ नवलेखन पुरस्कार हेतु अनुशंसित। कहानी संग्रह महुआ घटवारिन को कथा यूके द्वारा वर्ष 2013 में लंदन के हाउस ऑफ कामंस के सभागार में अंतर्राष्ट्रीय इन्दु शर्मा कथा सम्मान। समग्र लेखन हेतु वर्ष 2014 में वनमाली कथा सम्मान। समग्र लेखन हेतु वर्ष 2017 में राष्ट्रभाषा प्रचार समिति का श्री शैलेश मटियानी चित्रा कुमार पुरस्कार। समग्र लेखन हेतु 53 वाँ अभिनव शब्द शिल्पी सम्मान। दुष्यंत पांडुलिपि संग्रहालय का कमलेश्वर सम्मान। उपन्यास अकाल में उत्सव को स्पंदन कृति सम्मान। अकाल में उत्सव को आचार्य निरंजननाथ सम्मान। स्पेनिन संस्था द्वारा डॉ. सिद्धनाथ कुमार स्मृति सम्मान। अमेरिका तथा कैनेडा में हिन्दी लेखन हेतु विशेष रूप से सम्मानित किया गया। भारतीय ज्ञानपीठ से प्रकाशित तीन कहानी संकलनों लोकरंगी प्रेम कथाएँ, नौ लम्बी कहानियाँ तथा युवा पीढ़ी की प्रेम कथाएँ में प्रतिनिधि कहानियाँ सम्मिलित। कहानी शायद जोशी कथादेश अखिल भारतीय कहानी प्रतियोगिता में पुरस्कृत। पाकिस्तान की प्रमुख साहित्यिक पत्रिका आज ने भारत की कहानी पर केन्द्रित विशेषांक में चार कहानियों का उर्दू अनुवाद प्रकाशित किया। विशेष तीन कहानियों पर हिन्दी फीचर फिल्मों का निर्माण कार्य चल रहा है। एक कहानी कुफ्र पर लघु फिल्म बन कर रिलीज़ हो चुकी है। कहानी दो एकांत पर बनी फिल्म बियाबान की पटकथा, संवाद तथा गीत लेखन। संपादक : विभोम स्वर, संपादक : शिवना साहित्यिकी पंकज सुबीर, पी.सी. लैब, शॉप नं. 3-4-5-6, सम्राट कॉम्प्लेक्स बेसमेण्ट, बस स्टैण्ड के सामने, सीहोर, मध्य प्रदेश 466001 मोबाइल : 09977855399, दूरभाष : 07562-405545