जो मुजे शिखाते है की जीवन क्या है। ओर वो लोग भी जो शिखाते है की जीवन क्या नही है । क्योंकि यही सत्य की मुजे खोज करनी है जो मुजे सही पथ पर ले चले ओर वही सत्य में अपने विश्र्व को बता कर जीवन की साथँकता का अनुभव कर सकुं । मेरी आपसे प्राथँना है ,आप मातृभारती के माध्यम से बताये के मेरे लेखन में आपको क्या क्या अच्छा लगा या आप और क्या नही.

    • (9)
    • 122
    • (46)
    • 539
    • (56)
    • 573
    • (70)
    • 687
    • (86)
    • 0.9k
    • (81)
    • 0.9k
    • (97)
    • 1.3k
    • (1)
    • 584
    • (16)
    • 2.6k