नाम ; डॉ. प्रणव भारती  शैक्षणिक योग्यता ; एम. ए (अंग्रेज़ी,हिंदी) पी. एचडी (हिंदी) लेखन का प्रारंभ ; लगभग बारह वर्ष की उम्र से छुटपुट पत्र-पतिकाओं में लेखन जिसके बीच में 1968 से लगभग 15 वर्ष पठन-पाठन से कुछ कट सी गई  हिंदी में एम.ए ,पी. एचडी विवाहोपरांत गुजरात विद्यापीठ से किया       शिक्षा के साथ लेखन पुन:आरंभ  उपन्यास; ----------- -टच मी नॉट  -चक्र  -अपंग  -अंततोगत्वा  -महायोग ( धारावाहिक रूप से ,सत्रह अध्यायों में दिल्ली प्रेस से प्रकाशित ) -नैनं छिन्दन्ति शस्त्राणि  -गवाक्ष  -मायामृग  -शी डार्लिंग (कहानी-संग्रह ) पद्य रचनाएं; -------------- -एक त्रिशंकु सिलसिला  -चंपक चूहा एवं अन्य बाल-कविताएं (बच्चों के लिए) -(अप्रकाशित बहुत सी पद्य रचनाएं) भविष्य में प्रकाशित होने की संभावना  अन्य कार्यों में रही संलग्नता ; ------------------------------- -गुजराती व अंग्रेज़ी से हिंदी में अनुवाद(कहानी,कविता,उपन्यास आदि)  -NID की योजना ' डिस्कवरी ऑफ़ इंडिया ' मुंबई के लिए अनुवाद कार्य  -अहमदाबाद एक्शन ग्रुप (असाग) में को-ऑर्डिनेटर के रूप में कार्य  -राष्ट्रीय डिज़ाइन संस्थान (NID) में हिंदी अधिकारी के रूप में अनुभव  -इसरो (अहमदाबाद) के शैक्षणिक विभाग (डेकू )के लिए कई नाटकों व कार्यक्रमों का लेखन तथा प्रस्तुति  -इसरो के डेकू विभाग के लिए सरकारी योजना के अंतर्गत (अब झाबुआ जाग उठा) सीरियल का कथानक,शीर्षक गीत एवं संवाद-लेखन (68-70 ) एपिसोड्स का लेखन (भोपाल के लिए) -इसरो (अहमदाबाद)के माध्यम से भोपाल,इंदौर के लिए पद्य में नृत्य-नाटकों का लेखन  -'एजुकेशन इनीशिटिव्स' संस्था के साथ हिंदी -विशेषज्ञ के रूप में कई वर्षों तक संबद्ध  -( "   " "  " " " " " " " )  के लिए बच्चों के शिक्षण हेतु लगभग 70 बच्चों की कविताओं का गुजराती से हिंदी में अनुवाद  -आई .आई. एम अहमदाबाद के साथ सात वर्षों तक हिंदी-विशेषज्ञ के रूप में जुड़ाव  -लंदन में 'ए वोयेग ऑफ पीस एंड जॉय ' शीर्षक  से फ्यूज़न के लिए 8  भजनों का लेखन  -विभिन्न संग्रहों ,पत्र-पत्रिकाओं में गद्य-पद्य लेखन में भागीदारी -आकाशवाणी एवं दूरदर्शन में  वर्षों से भागेदारी  (कविता,कहानी-पाठ,नाटक,साक्षात्कार,चर्चा,संचालन आदि   -Visiting Faculty (CITY PULS FILM & TELEVISON iNSTITUTE ,GANDHINAGAR' अहमदाबाद से तीन वर्ष पूर्व से घर से कार्यरत  सम्मान एवं उपलब्धियाँ  ; --------------------------- -विभिन्न संस्थाओं द्वारा सम्मान  -अंततोगत्वा उपन्यास को हिंदी साहित्य परिषद द्वारा प्रथम पुरूस्कार  -गवाक्ष उपन्यास को रांची से 'स्पेनिन पुरुस्कार ',  श्री योगी जी ,मुख्य मंत्री (उत्तर-प्रदेश) द्वारा  'प्रेमचंद नामित पुरूस्कार  -'राही रैंकिंग' में विश्व के 100 हिंदी -लेखकों में नाम दर्ज    संलग्न  ------- -उपन्यास 'हिरण्यगर्भ:' (शीर्षक में बदलाव अपेक्षित) -कहानियाँ , पद्य-रचनाएँ विभिन्न पत्रों व वेब पत्रिकाओं के लिए  -कई संस्थाओं से जुड़ाव    -विराट-वैभव हिंदी दैनिक-पत्र 'दिल्ली'   चार विभिन्न स्थानों क्रमश:जयपुर,जोधपुर व अहमदाबाद में प्रत्येक रविवार को लेख 'उजाले की ओर' का प्रकाशन  (वर्षों से ) शौक; कत्थक नृत्य ,भारतीय शास्त्रीय संगीत,पठन,लेखन   निवास; डॉ. प्रणव भारती   'ललितश्रुति' 31 ,उमेद पार्क  सोला-रोड़  घाटलोडिया ,अहमदाबाद 61  दूरभाष; 079 7485861  मो; 9904516484 ,08734

    • (4)
    • 58
    • (3)
    • 58
    • (4)
    • 77
    • (3)
    • 63
    • (6)
    • 90
    • (2)
    • 58
    • (3)
    • 78
    • (4)
    • 68
    • (4)
    • 57
    • (1)
    • 64