इन छोटी छोटी आँखों में कुछ ख्वाहिसे है छोटी छोटी, हूँ मजबूर इतनी की एक ख्वाब भी नहीं देख सकती अपनी मर्जी का क्योंकि तबाह किया हैं जीन लोगों ने उनकी सोच है बहुत छोटी .......!(¬_¬)

    • (12)
    • 984
    • (22)
    • 1.3k
    • (30)
    • 1.1k
    • (24)
    • 1.8k
    • (37)
    • 3.1k