लगभग पिछले पच्चीस वर्षों से देश की प्रतिष्ठित कला पत्र-पत्रिकाओं में दृश्यकला पर निरन्तर लेखन, जैसे कलादीर्घा, लखनऊ, समकालीन कला, नई दिल्ली, कला त्रैमासिक, उ.प्र. राज्य ललित कला अकादेमी, अभिव्यक्ति, नई दिल्ली आदि।