Read best free stories and pdf download

You are welcome to the world of inspiring, thrilling and motivating stories written in your own language by the young and aspiring authors on Matrubharti. You will get a life time experience of falling in love with stories.


Languages
Categories
Featured Books

मला स्पेस हवी पर्व १ By Meenakshi Vaidya

मागील भागात आपण बघीतलं की नेहा सुधीरला मला स्पेस हवी आहे हे सांगते सुधीरला धक्का बसतो. ऋषी आल्यामुळे दोघांचं बोलणं अर्धवट राहतं.या भागात बघू काय होईल.

किती तरी वेळ सुधीर आपल्याच...

Read Free

એક હતી કાનન... By RAHUL VORA

પોતાની મસ્તીમાં કાવ્ય પંક્તિઓ ગણગણી રહેલી કાનનની સાથે ચાલતો મનન શબ્દો પકડવા પ્રયત્ન કરી રહ્યો હતો. અચાનક કાનન અટકી.અવળી ફરી.
“હવે આપણી યાત્રા અહીં પૂરી થાય છે.મારી શરૂ થાય છે.”
શ...

Read Free

प्यार हुआ चुपके से By Kavita Verma

जबलपुर शहर की तूफानी अंधेरी रात में, एक लड़की खुद को बचाने के लिए हाथ में चाकू लिए बेतहाशा भागे जा रही थी क्योंकि कुछ लोग हाथों में बंदूक लिए उसका पीछा कर रहे थे। तेज़ बारिश में भा...

Read Free

તારી સંગાથે By Mallika Mukherjee

2 જુલાઈ 2018, સોમવાર સવારના 10.00

----------------------------------------------------



- હેલો, અશ્વિન.

હું મલ્લિકા છું. આજે મેં તમને ફેસબુક પર ફ્રેન્ડ રિક્વેસ્ટ મોક...

Read Free

कालवाची-प्रेतनी रहस्य-सीजन-२ By Saroj Verma

अब सभी सकुशल अपना अपना जीवन व्यतीत कर रहे थे,सबसे पहले त्रिलोचना और कौत्रेय के यहाँ पुत्र का जन्म हुआ,इसी मध्य भैरवी ने भी एक पुत्री को जन्म दिया,उस बालिका के आने से समूचे राजमहल म...

Read Free

અ - પૂર્ણતા By Mamta Pandya

એસીપી મીરા શેખાવતની ગાડી સડસડાટ રસ્તા પર દોડી રહી હતી. રવિવાર હોવાથી રસ્તા પર ટ્રાફિક થોડો ઓછો હતો. એસીપી મીરા શેખાવત પાંચ ફૂટ નવ ઇંચની હાઇટ ધરાવતી સ્ત્રી હતી. એક પોલીસ ઓફિસરના ચહે...

Read Free

द्रोहकाल जाग उठा शैतान By Jaydeep Jhomte

रहज़गढ़ 300-350 की आबादी वाला एक गाँव है। गाँव के लोगों के घर मिट्टी के बने होते हैं। गांव में आने-जाने का एकमात्र साधन कच्ची सड़क है। जो बरसात के दिनों में पूरी तरह से कीचड़ में त...

Read Free

फागुन के मौसम By शिखा श्रीवास्तव

'होली आयी रे कन्हाई, रंग बरसे
बजा दे ज़रा बाँसुरी...'
सुबह के दस बज रहे थे जब 'वैदेही गेम्स वर्ल्ड' के मालिक राघव ने अपने दफ़्तर के अंदर कदम रखा और उसके कानों से ग...

Read Free

कॉंन्ट्रैक्ट मैरिज By Mini

ये कहानी हैं दो अजनबी की जिसकी अनचाही शादी के बंधन में बंध जाते हैं,इस कहानी के नायक रणविजय रावत एक बड़े बिजनेसमैन हैं उसे अपने बिजनेस के लिए किसी भी हद तक गुजरने कि लत है वो अपने...

Read Free

भाग्य दिले तू मला By Siddharth

दिल्ली दिलंवालो की दिल्ली. कधी कधी ही फ्रेज ऐकली की काहीतरी कमी असल्यासारख वाटत. जरी दिल्लीमध्ये दिलदार लोक लाखोच्या संख्येने राहत असले तरीही हे तेच शहर आहे ज्याने ऐतिहासिक काळापास...

Read Free

मला स्पेस हवी पर्व १ By Meenakshi Vaidya

मागील भागात आपण बघीतलं की नेहा सुधीरला मला स्पेस हवी आहे हे सांगते सुधीरला धक्का बसतो. ऋषी आल्यामुळे दोघांचं बोलणं अर्धवट राहतं.या भागात बघू काय होईल.

किती तरी वेळ सुधीर आपल्याच...

Read Free

એક હતી કાનન... By RAHUL VORA

પોતાની મસ્તીમાં કાવ્ય પંક્તિઓ ગણગણી રહેલી કાનનની સાથે ચાલતો મનન શબ્દો પકડવા પ્રયત્ન કરી રહ્યો હતો. અચાનક કાનન અટકી.અવળી ફરી.
“હવે આપણી યાત્રા અહીં પૂરી થાય છે.મારી શરૂ થાય છે.”
શ...

Read Free

प्यार हुआ चुपके से By Kavita Verma

जबलपुर शहर की तूफानी अंधेरी रात में, एक लड़की खुद को बचाने के लिए हाथ में चाकू लिए बेतहाशा भागे जा रही थी क्योंकि कुछ लोग हाथों में बंदूक लिए उसका पीछा कर रहे थे। तेज़ बारिश में भा...

Read Free

તારી સંગાથે By Mallika Mukherjee

2 જુલાઈ 2018, સોમવાર સવારના 10.00

----------------------------------------------------



- હેલો, અશ્વિન.

હું મલ્લિકા છું. આજે મેં તમને ફેસબુક પર ફ્રેન્ડ રિક્વેસ્ટ મોક...

Read Free

कालवाची-प्रेतनी रहस्य-सीजन-२ By Saroj Verma

अब सभी सकुशल अपना अपना जीवन व्यतीत कर रहे थे,सबसे पहले त्रिलोचना और कौत्रेय के यहाँ पुत्र का जन्म हुआ,इसी मध्य भैरवी ने भी एक पुत्री को जन्म दिया,उस बालिका के आने से समूचे राजमहल म...

Read Free

અ - પૂર્ણતા By Mamta Pandya

એસીપી મીરા શેખાવતની ગાડી સડસડાટ રસ્તા પર દોડી રહી હતી. રવિવાર હોવાથી રસ્તા પર ટ્રાફિક થોડો ઓછો હતો. એસીપી મીરા શેખાવત પાંચ ફૂટ નવ ઇંચની હાઇટ ધરાવતી સ્ત્રી હતી. એક પોલીસ ઓફિસરના ચહે...

Read Free

द्रोहकाल जाग उठा शैतान By Jaydeep Jhomte

रहज़गढ़ 300-350 की आबादी वाला एक गाँव है। गाँव के लोगों के घर मिट्टी के बने होते हैं। गांव में आने-जाने का एकमात्र साधन कच्ची सड़क है। जो बरसात के दिनों में पूरी तरह से कीचड़ में त...

Read Free

फागुन के मौसम By शिखा श्रीवास्तव

'होली आयी रे कन्हाई, रंग बरसे
बजा दे ज़रा बाँसुरी...'
सुबह के दस बज रहे थे जब 'वैदेही गेम्स वर्ल्ड' के मालिक राघव ने अपने दफ़्तर के अंदर कदम रखा और उसके कानों से ग...

Read Free

कॉंन्ट्रैक्ट मैरिज By Mini

ये कहानी हैं दो अजनबी की जिसकी अनचाही शादी के बंधन में बंध जाते हैं,इस कहानी के नायक रणविजय रावत एक बड़े बिजनेसमैन हैं उसे अपने बिजनेस के लिए किसी भी हद तक गुजरने कि लत है वो अपने...

Read Free

भाग्य दिले तू मला By Siddharth

दिल्ली दिलंवालो की दिल्ली. कधी कधी ही फ्रेज ऐकली की काहीतरी कमी असल्यासारख वाटत. जरी दिल्लीमध्ये दिलदार लोक लाखोच्या संख्येने राहत असले तरीही हे तेच शहर आहे ज्याने ऐतिहासिक काळापास...

Read Free