Best detective stories in English, Hindi, Gujarati and Marathi Language

A Silent Witness. - 1
by Manisha Makwana

"મુંબઈ નગરી ફિલ્મો ની નગરીમાં શહેરના શોરગૂલ માં મધ્યરાત્રિએ એક સમૃદ્ધ સોસાયટી માં રહેતા ધનાઢ્ય વેપારી જે શહેરના નામાંકિત અને ઇન્વેસ્ટર્સના લિસ્ટમાં મોખરે હતા તેવા ૫૦ વર્ષિય રેહાન અવસ્થીનું ...

बात एक रात की - 3
by Aashu Patel

बात एक रात की सी-३ 'आई लव यु, स्वीटी|' अनावृत देह के साथ बेड पर सो रही मयूरी के गाल को थपथपाते हुए दिलनवाझ ने कहा| मयूरी को ब्लू ...

નિર્દોષ કોણ
by Appu Umaraniya
  • 254

ભરબપોરના તીખા તડકે વિજાપુર ગામના સીમાડામાં બે લાશ મળી આવતા પૂરું ગામ જોવા ઉમટી પડ્યું હતું. પોલીસ લોકો ઘટનાસ્થળે આવી જતા મામલો સાંભળી લીધો હતો. લાશની તપાસી અને પૂછપરછ ...

बात एक रात की - 2
by Aashu Patel
  • 234

बात एक रात की सी-2  'दीदी, माय स्ट्र्गल इझ ओवर! केन यु बिलिव, 'ध' अमन कपूर सिलेक्टेड मी एझ हीरोइन फॉर हिझ अपकमिंग फिल्म ! आई कान्ट एक्सप्रेस माय ...

बात एक रात की - 1
by Aashu Patel
  • 438

बात एक रात की अनुवाद: डॉ. पारुल आर. खांट सी - 1 'दीदी, आज मुझे पावरफुल प्रोड्यूसर-डिरेक्टर अमन कपूर को मिलने जाना है|' स्ट्र्गलिंग एक्ट्रेस मयूरी माथुर अपनी बड़ी ...

विवेक और 41 मिनिट - 20
by S Bhagyam Sharma
  • 216

विवेक और 41 मिनिट.......... तमिल लेखक राजेश कुमार हिन्दी अनुवादक एस. भाग्यम शर्मा संपादक रितु वर्मा अध्याय 20 पुष्पवासन अपने हाथ में रखी पिस्तौल से गोकुलवासन के सिर को ...

જડીબુટ્ટી
by Jayesh Soni
  • (11)
  • 412

વાર્તા- જડીબુટ્ટી લેખક- જયેશ એલ.સોની.ઊંઝા મો.નં.9601755643        સુખપુર ગામમાં ચોરે ને ચૌટે એકજ ચર્ચા હતી.સ્મશાનભૂમિ માં એક ગોપાલગીરી નામના ચમત્કારી બાપુ હિમાલય થી પધાર્યા છે અને ત્રિકાળજ્ઞાની છે.પંદર દિવસ ...

डिटेक्टिव विक्रम - 5 - नाज़िया
by VIKAS BHANTI
  • (11)
  • 614

"रे विक्रम भाई, देख पिछले 3 महीनों में थारी ज़िन्दगी ने क्या से क्या करवट ले डाली है ।  कहाँ तू डरा डरा घूमता था अब मुलजिम डरे हैं ...

विवेक और 41 मिनिट - 19
by S Bhagyam Sharma
  • 356

विवेक और 41 मिनिट.......... तमिल लेखक राजेश कुमार हिन्दी अनुवादक एस. भाग्यम शर्मा संपादक रितु वर्मा अध्याय 19 पुलिस कंट्रोल रूम में उतावली व फुर्ती भरा माहौल था | ...

वो कौन?? भाग - 1
by Uma Vaishnav
  • 602

वो हैं कौन?? 14  फरवरी,मोबाइल की रिंग ट्यून बजती हैंगुप्त..गुप्त...गुप्त... ???..रिंग सुनते ही प्रशांत की आँख खुलती हैं, प्रशांत आँखे मशलता हुआ... मोबाइल में नंबर देख..... कॉल उठाता है..प्रशांत.... बोलो ...

કઠપૂતલી - 33
by SABIRKHAN
  • (47)
  • 1.5k

ઇસ્પેક્ટર સોનિયા, ઇસ્પેક્ટર અભય દેસાઈ અને એનો સ્ટાફ અત્યારે કોમ્પ્યુટર સ્ક્રીન સામે હતો ઇસ્પેક્ટર અભયે તરત જ પોલીસ સ્ટેશનની રાઈટ સાઈડે આવતી સ્ટ્રીટના સીસીટીવી કેમેરાનાં કુટેજ મંગાવ્યાં.કારણકે શૂટ કરનાર ...

विवेक और 41 मिनिट - 18
by S Bhagyam Sharma
  • 492

विवेक और 41 मिनिट.......... तमिल लेखक राजेश कुमार हिन्दी अनुवादक एस. भाग्यम शर्मा संपादक रितु वर्मा अध्याय 18 “ये कौन सा रोड है |” कार के काँच ऊपर चढ़े ...

विवेक और 41 मिनिट - 17
by S Bhagyam Sharma
  • 466

विवेक और 41 मिनिट.......... तमिल लेखक राजेश कुमार हिन्दी अनुवादक एस. भाग्यम शर्मा संपादक रितु वर्मा अध्याय 17 विवेक सदमे में आया | “पुष्पवासन..........” “वही............” “कहाँ से बोल रहे ...

ખેલાડી નંબર વન
by Jayesh Soni
  • (33)
  • 1.3k

                       વાર્તા-ખેલાડી નંબર વન   લેખક-જયેશ એલ.સોની-ઊંઝા  મો.નં.9601755643           યોગેશ્વર લેબોરેટરી ફડચામાં ગઇ એ સમાચાર માર્કેટમાં આવ્યા અને શહેરમાં જોરદાર હોબાળો મચી ગયો.લોકોએ કંપનીનો ગ્રોથ જોઇને અને માલિકો ઉપર વિશ્વાસ ...

विवेक और 41 मिनिट - 16
by S Bhagyam Sharma
  • 604

विवेक और 41 मिनिट.......... तमिल लेखक राजेश कुमार हिन्दी अनुवादक एस. भाग्यम शर्मा संपादक रितु वर्मा अध्याय 16 विवेक ने उरपालर की मूर्ति के पास कार रोक कर नीचे ...

डिटेक्टिव विक्रम - 4 - जलन
by VIKAS BHANTI
  • (20)
  • 1.4k

"विक्रम भाई इत्थे आ जा जल्द से, एक खतरनाक सा केस आया से ।" गुर्जर ने सुबह सुबह ही विक्रम को कॉल कर दिया । "आपकी बात से तो ...

स्टॉकर - 40
by Ashish Kumar Trivedi
  • (17)
  • 808

                      स्टॉकर                         (40)मेघना ने शिव की हत्या का ...

विवेक और 41 मिनिट - 15
by S Bhagyam Sharma
  • 566

विवेक और 41 मिनिट.......... तमिल लेखक राजेश कुमार हिन्दी अनुवादक एस. भाग्यम शर्मा संपादक रितु वर्मा अध्याय 15 टी. वी. के समाचार चेनल में लेटेस्ट प्योर सिल्क की साड़ी ...

मुर्दे की जान ख़तरे में - 2
by अनिल गर्ग
  • 590

जब मै इंस्पेक्टर शर्मा के पास थाने पहुंचा तब शाम के 7 बज चुके थे। अशोक बंसल की हत्या की दिन भर की दुश्वारियो से निपट कर शर्मा जी ...

स्टॉकर - 39
by Ashish Kumar Trivedi
  • (14)
  • 598

                      स्टॉकर                         (39)निशांत ने शिव से कहा कि ...

રહસ્યમય મંદિર
by Urvashi Trivedi
  • (41)
  • 1.6k

               અષાઢ મહિના ની મેઘલી રાત્રે એસ. પી. સુરજસિહ પોતાના નીજી કામ માટે રાજકોટ થી મુંબઈ જઈ રહ્યા હતા તેથી પોતાની કાર લઈને ...

જાસૂસ બહેનપણી
by Sharad Trivedi
  • (26)
  • 1.1k

ઘણી વખત આપણે જ આપણે ગોઠવેલી જાળમાં ફસાઈ જતાં હોઈએ છીએ,સુષ્મા.તમારી સાથે કંઈ એવું જ બન્યું છે.તમે અને કેતવ બંને મહાનગરના બંને અંતિમ છેડે આવેલાં વિસ્તારમાં રહેતાં એકબીજાનથી અજાણ ...

PSYCHO KILLERS - 3
by Urvil Gor
  • 578

पिछले पार्ट में देखा कि 4 कंपनियों के मालिक को खतरा है। मार्क और उनकी टीम चारो मालिक को सुरक्षित करने निकल पड़े। हालाकि उनमें से एक मुंबई से ...

स्टॉकर - 38
by Ashish Kumar Trivedi
  • (15)
  • 788

                       स्टॉकर                          (38)मेघना रॉबिन से मिलती तो ...

विवेक और 41 मिनिट - 14
by S Bhagyam Sharma
  • 404

विवेक और 41 मिनिट.......... तमिल लेखक राजेश कुमार हिन्दी अनुवादक एस. भाग्यम शर्मा संपादक रितु वर्मा अध्याय 14 सुबह समय 7.45. सुंदर पांडियन के बंगले के कम्पाउण्ड का गेट ...

यहूदी सरगर्दान
by Nasira Sharma
  • 412

यहूदी सरगर्दान शराबख़ाने में मेरी मेज़ के ठीक सामने वह बैठा था। मुझे यहाँ बैठे लगभग चार घंटे हो रहे थे और इस बीच मैं उसे सिप़फऱ् मयख़ोरी करते ...

ષડયંત્ર
by Jayesh Soni
  • (46)
  • 1.6k

વાર્તા-ષડ્યંત્ર  લેખક-જયેશ એલ.સોની-ઊંઝા  મો.નં.9725201775       અર્જુનકુમાર આજે રોજ કરતાં સવારે થોડા વહેલા જાગી ગયા હતા.ઘરે એકલા હતા અને રાત્રે વહેલા ઊંઘી ગયા હતા એટલે વહેલા જાગી ગયા હતા.બેંકની નોકરીમાંથી ...

स्टॉकर - 37
by Ashish Kumar Trivedi
  • (16)
  • 542

                       स्टॉकर                         (37)रॉबिन का प्लान था कि किसी ...

विवेक और 41 मिनिट - 13
by S Bhagyam Sharma
  • 526

विवेक और 41 मिनिट.......... तमिल लेखक राजेश कुमार हिन्दी अनुवादक एस. भाग्यम शर्मा संपादक रितु वर्मा अध्याय 13 सुबह के 6.30 बजे | डी. जी. पी. वैकुंड शर्मा ने ...

मुर्दे की जान खतरे में - 1
by अनिल गर्ग
  • 660

अशोक विहार की कोठी में जब मैंने कदम रखा तो उस समय बंसल साहब की लाश ड्राइंग रूम में बिलकुल बीचोंबीच पड़ी हुई थी। पुलिस की फोरेंसिक टीम अपने ...