Best detective stories in English, Hindi, Gujarati and Marathi Language

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” - ૩૬
by Dr Hina Darji
  • 156

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” ડો. હિના દરજી પ્રકરણ - ૩૬   કરણ અને વિક્કીનાં મગજમાં બીજી યોજનાને આકાર આપવાની વાત ફરવા લાગી હતી.  લેબ પકડાઈ જવાથી એ ...

अनोखा जुर्म - भाग-8
by Kumar Rahman
  • 336

फायरिंग  गेट से अंदर पहुंचते ही सार्जेंट सलीम ठिठक कर रुक गया। अंदर एक लाश रखी हुई थी। वहां तमाम लोग बैठे हुए थे। कुछ महिलाएं जारो कतार रो ...

ટુ વોન્ડેડ ગર્લ્સ.
by મનહર વાળા, રસનિધિ.
  • 142

ટુ વોન્ટેડ ગર્લ્સ. લેખક. વાળા મનહર. અમદાવાદની ચમક ધમક જોઈને, પુરા વિશ્વની નજર આ શહેર પર, મંડાય છે. આ શહેરની દસેય દિશાએ અને બારેય ભાગોળે વેગીલા વિકાસના વાયરા ફૂંકાય ...

मौत का खेल - भाग-14
by Kumar Rahman
  • 576

दलाल रायना ने मेजर विश्वजीत को निराश नहीं किया। वह पलट कर शरबतिया के पास गई और वाइन की बोतल को गले से सटा कर शराब गिराने लगी। शराब ...

अनजान कातिल - 3
by V Dhruva
  • 390

आगे आपने पढा कि अमन सहगल की कार का एक्सीडेंट हो जाता है। एक्सीडेंट में ही उसकी मौत हो जाती है और इं. मिश्रा तहकीकात कर के अमन की ...

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” - ૩૫
by Dr Hina Darji
  • (63)
  • 1.5k

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” ડો. હિના દરજી પ્રકરણ - ૩૫   રોહિત જે જાણતો તરત કરણ અને વિક્કીને જણાવતો.  રોહિત એ રાત્રે એક નાના છોકરા પર દવાનું ...

मौत का खेल - भाग-13
by Kumar Rahman
  • (12)
  • 1.3k

गुमशुदगी की रिपोर्ट सिगार सुलगाने के बाद सोहराब ने दो-तीन कश लिए। उस के बाद उस ने किसी का फोन मिला दिया। दूसरी तरफ से फोन रिसीव होने पर ...

अनोखा जुर्म - भाग-7
by Kumar Rahman
  • 1.3k

पीछा सार्जेंट सलीम ने कुछ देर इधर-उधर की बातें करने के बाद हाशना से पूछा, “यह वाकिया कब हुआ था?” “लगभग तीन साल पहले।” हाशना ने बताया। इसके बाद ...

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” - ૩૪
by Dr Hina Darji
  • (86)
  • 2.6k

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” ડો. હિના દરજી પ્રકરણ - ૩૪   રોહિત પાસે લોક નંબર હતો. એ ખૂબ ઝડપથી અંગારનાં મોબાઈલમાં એક એપ ડાઉનલોડ કરે છે. બે ...

मौत का खेल - भाग -12
by Kumar Rahman
  • (12)
  • 1.1k

तफ्तीश इंस्पेक्टर कुमार सोहराब और सार्जेंट सलीम के बीच अभी बातें हो ही रही थीं कि तभी सोहराब के फोन की घंटी बजी। दूसरी तरफ से राजेश शरबतिया की ...

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” - 33
by Dr Hina Darji
  • (73)
  • 2.2k

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” ડો. હિના દરજી પ્રકરણ - ૩૩   અંગાર પોતાને સંભાળે એ પહેલા ગાડી સ્ટાર્ટ થાય છે.  છોકરી બાયનો ઈશારો કરી ફરી મીઠું હાસ્ય ...

வினையை தேடி ஒரு பயணம்... - 2
by shilpa varatharajulu
  • 243

பகுதி - 2அந்த நூலக உரிமையாளர் மிகவும் குழப்ப நிலையில் அவ்விடதை விட்டு செல்கிறார்.அன்றிரவு புத்தக பதிவுகளை தேடி பெற்று வந்த அந்த மூவரும் தங்களின் ஓய்வறைக்கு வந்து அமர்கின்றனர். பிறகு எடுத்து வந்த புத்தக மற்றும் செய்தித்தாள் குறிப்புகளை ...

मौत का खेल - भाग-11
by Kumar Rahman
  • (13)
  • 1.3k

कौन था वह सलीम ने आज जम कर मेहनत की थी। उसे यकीन था कि उस की जानकारी सोहराब को खुश कर देगी। जब वह कोठी पर पहुंचा तो ...

Who-The Tale of Mrs. Anonymous - 2 - The Party
by Janushi Raichura
  • 369

The huge mansion was decorated conventionally in a royal way. Everybody was busy chatting with each other. A group of ladies were laughing in a fake sense so loudly ...

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” - 32
by Dr Hina Darji
  • (72)
  • 2.1k

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” ડો. હિના દરજી પ્રકરણ - ૩૨   અંગાર જે દિવસે મુંબઈ પાછો આવે છે.  એ રાત્રે શુક્લાનાં ફોન પર અર્જુનનો ફોન આવે છે.  ...

अनोखा जुर्म - भाग- 6
by Kumar Rahman
  • (12)
  • 1.4k

कॉकरोच शाम को सलीम ऑफिस से निकल कर सीधे गीतिका के घर के सामने वाले चायखाने पर ही आ कर रुका था। गीतिका के दरवाजे पर ताला नहीं लटक ...

मौत का खेल - भाग-10
by Kumar Rahman
  • (11)
  • 1.2k

इश्क की दास्तान अबीर कुछ देर पहले एक लड़की के साथ था और अब यह दूसरी लड़की। अबीर आखिर किसे धोखा दे रहा है? यह सलीम की समझ में ...

अनजान कातिल - 2
by V Dhruva
  • 1.3k

अपने भाग 1 में पढ़ा तावड़े इंस्पेक्टर मिश्रा की तरफ देखकर कहता है- सर! खूनी ने गोली अंधेरे मे चलाई। इसका मतलब वो उस अधेड़  शख्स के नज़दीक ही ...

Who-The Tale of Mrs. Anonymous - 1 - The Theft
by Janushi Raichura
  • 852

The morning sun rose high in the sky as the clouds parted away and the chilly rainy night came to an end. Lyric took the coffee mug from beneath ...

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” - 31
by Dr Hina Darji
  • (72)
  • 2.5k

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” ડો. હિના દરજી પ્રકરણ – ૩૧   રીયા: “હા ડોક્ટર...  મને ખાતરી નથી...  પણ તમે જે પ્રમાણે પૂછો છો...  એના પરથી મને લાગે ...

मौत का खेल - भाग-9
by Kumar Rahman
  • (13)
  • 1.4k

कब्र खोदी गई डॉ. वीरानी की कब्र सभी लोगों के सामने थी। गड्ढा मिट्टी से भरा हुआ था। रायना और शरबतिया ने लोगों को बताया था कि उन्होंने कुछ ...

आग और गीत - 20 - अंतिम भाग
by Ibne Safi
  • 969

(20) साइकी अब उस कमरे में अकेली खड़ी थी । उसी कमरे में एक छोटी सी मशीन लगी हुई थी और लकड़ी के एक तख्ते पर ट्रांसमीटर रखा हुआ ...

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” - 30
by Dr Hina Darji
  • (71)
  • 2.2k

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” ડો. હિના દરજી પ્રકરણ – ૩૦   ગાડી ચાલુ કરી કરણ ફોન લગાવે છે.  ફોન પર્વતસિંહ ઉપાડે છે.  અર્જુને એકઠો કરેલો સામાન મળી ...

अनोखा जुर्म - भाग-5
by Kumar Rahman
  • (11)
  • 1.6k

चपरासी ऊपर वाले ने सलीम की एक न सुनी और उसे स्काई सैंड सॉफ्टवेयर कंपनी में चपरासी बन कर जाना ही पड़ा। गीतिका उस से एक बार कोठी पर ...

मौत का खेल - भाग-8
by Kumar Rahman
  • 1.3k

शीर्ष आसन सार्जेंट सलीम न्यू इयर पार्टी से लौटने के  बाद जम कर सोना चाहता था, लेकिन लगातार बजते फोन ने उसकी नींद में खलल डाल दिया था। उसने ...

आग और गीत - 19
by Ibne Safi
  • 729

(19) “मगर यह तो बाजीगर है, इसे किस क्यों किया गया ? ” मोबरानी ने कहा । “यह बहुत खतरनाक आदमी है ।” बेन्टो ने कहा “यह इसकी असली ...

अनोखा जुर्म - भाग-4
by Kumar Rahman
  • 1.8k

पीछा सार्जेंट सलीम हर दिन सुबह गीतिका के घर के सामने मौजूद एक चायखाने में बैठ जाता। वहां वह अपनी भोंडी शायरी सुनाता रहता। कभी चाय वाले से खरीद ...

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” - 29
by Dr Hina Darji
  • (70)
  • 2.2k

કેસ નંબર - ૩૬૯, “સત્યની શોધ” ડો. હિના દરજી પ્રકરણ - ૨૯   નીલિમા: "વિક્કી તું મારું નામ લેવાનું ભૂલી ગયો...  હવે તારી સામે ઉભેલી આ નીલિમા ડરપોક અને ...

வினையை தேடி ஒரு பயணம்.....
by shilpa varatharajulu
  • 543

       சாதாரணமாக கதை கேட்பது என்பது அனைவருக்கும் பிடித்தமான ஒன்று. எனக்கும் கதை கேட்பது என்பது பிடித்தமான ஒன்று . இக்கதை மற்ற கதைகளை போல் இல்லாமல் மிகவும் மாறுபட்ட கதை வடிவத்தை கொண்டது ."எந்த ஒரு ...

आग और गीत - 18
by Ibne Safi
  • 792

(18) “इसकी कोई आवश्यकता नहीं है बाबा ।” राजेश ने भरे कंठ से कहा । वह निशाता के बाप से बहुत अधिक प्रभावित हुआ था । “नहीं बेटे ! ...