Best Drama stories in hindi read and download free PDF

Aashiqi - An Un Told Love Story 1
by zeba praveen
  • 124

कहानी के मुख्यपात्र   आरुषि रॉय दीवांक शर्मा आरुषि की फॅमिली माँ पापा दो बहनें दीवांक की फॅमिली माँ पापा एक बहन आरुषि के दोस्त - सौम्या और रोहित असिस्टेंट - रिया ...

क्या यही है “स्वार्थी वजूद” या “जीने की ज़रूरत”
by Ritu Chauhan
  • 90

स्वार्थ : वह सोच जो केवल अपने हित के लिए हो।स्वार्थहीन व्यक्ति की पहचान : सबसे आसान तरीका है आपके प्रति उसके स्वभाव को समझना। सच्चा मित्र वही होता ...

भूख - The Hunger
by jigar bundela
  • 478

   भूखयह एक शार्ट फिल्म है।लेखक की अनुमति के बिना इसे शूट करना या इसके किसीभी भाग का फिल्मांकन करना गैरकानूनी है। ऐसा करने पर आप से कानूनी कार्यवाही ...

चोरी या पहेली - रहस्यमयी कहानी - 3
by Satender_tiwari_brokenwords
  • 399

चोरी या पहेली ...(9)पहले खत के खुलासे अभी पचे ही नहीं थे कि अगले खत के खुलासे ने तो निवाला निगलने की ताकत भी जैसे छीन ली थी।इधर रिया ...

वेताज बादशाह - नफ़रत भरी मासूम ख्वाहिश - 3
by Uday Veer
  • 319

पुलिस के आते ही बो लोग फरार हो जाते हैं, और इस तरह से उन लोगों का खौफ बडने लगता है, धीरे धीरे कर लोग उधर से आना कम ...

चोरी या पहेली - रहस्यमयी कहानी - 2
by Satender_tiwari_brokenwords
  • 382

चोरी या पहेली?????.(5)गुत्थी उलझती जा रही थी । एक चोरी अब बहुत बड़ी वारदात बन चुकी थी। शांति की मौत सिर्फ एक दुर्घटना है !!! , पुलिस इसे नहीं ...

वेताज बादशाह - नफ़रत भरी मासूम ख्वाहिश - 2
by Uday Veer
  • 317

रूद्र अपनी मां का अंतिम संस्कार करता है, फिर सारे लोग मिलकर पुलिस कंप्लेंट करवाते हैं:- पुलिस:- जल्दी ही गुनाह गारो को पकडेंगे| कहकर उन लोगों को शांत करादेती ...

वेताज बादशाह - नफ़रत भरी मासूम ख्वाहिश - 1
by Uday Veer
  • 366

मुंबई की झोपड़ पट्टी में जहां गरीब और कचरा बीनने वाले लोग रहते हैं, उसी झोपड़ पट्टी में जन्म् हुआ एक छोटे बच्चे का, उसका नाम उसकी मां ने ...

चोरी या पहेली - रहस्यमयी कहानी - 1
by Satender_tiwari_brokenwords
  • 393

चोरी या पहेली ??.(1)अस्पताल का ये icu वार्ड भी शायद बिछड़ने वाला था ,जहाँ पे पिछले एक महीने से रोहन ज़िन्दगी और मौत के बीच मे रह गया था। ...

फिर तड़प उठी मां की ममता
by Uday Veer
  • 478

एक गांव में एक औरत रहती है, औरत बहुत गरीब होती है, उसका एक छोटा सा बेटा होता है, उसका नाम अभि होता है| उस औरत के बेटे के ...

रहस्मयी कत्ल
by Satender_tiwari_brokenwords
  • (11)
  • 1.1k

नैना बहुत डरी हुई थी । बीती रात उससे एक खून हो गया अनजाने में। नैना बहुत डर जाती है । एक तो खून हो गया है और किसी ...

आत्महत्या
by Satender_tiwari_brokenwords
  • (14)
  • 774

रोहन office से घर आता है और काफी खुश था । आज नौकरी का पहला दिन था । घर आया तो खुश था और माँ ने पूछा , कैसा ...

असमंजस
by Satender_tiwari_brokenwords
  • 893

कहानी - असमंजस किरदार - नव और सखी और एक असमंजस --------------------------------------------------------------कहानी काल्पनिक है और इसके किरदार भी काल्पनिक हैं।––----------------------------------------------------------नव एक प्राइवेट कंपनी में काम करता था

आखिरी गंतव्य
by Pranjali Awasthi
  • 717

शान्त चित्त और सधे हुये कदमों से वो रेलवे स्टेशन की तरफ़ बढ़ रही थी। अपनी उलझनों के खत्म होने की संभावना और संतोष की छाया, उसके चेहरे की ...

पार्थ आपका बेटा है
by Roopanjali singh parmar
  • (13)
  • 11.6k

नैना अपनी माँ अरुणा जी की लाड़ली बेटी थी। उसकी माँ ने अकेले ही उसको पाला था। नैना के पिता की मृत्यु नैना के बचपन में ही हो गई ...

एक एहम हस्ती, मैं
by Ritu Chauhan
  • 598

बस शौक है लिखने का बचपन से ही, बहुत सरे पन्नो पे दिल की बातें लिखी हैं जिनमे से कई तो किसी को मालूम भी नहीं. हम सब ऐसा ...

अकेली नहीं हूँ मैं
by Ritu Chauhan
  • 603

कभी कभी छोटी सी है तो कभी हद से ज़्यादा, कभी चाँद लम्हो की है तो कभी वर्षों पुरानी. क्यों होती है ये घुटन. क्यों ये दिल अरमान रखता ...

संध्या
by Roopanjali singh parmar
  • 1.1k

संध्या कुछ दिनों के लिए अपनी भाभी के मायके आई थी। यूँ तो पारिवारिक रिश्तों की वजह से आरव उसे पहचानता था, लेकिन कभी मिला नहीं था। किसी कार्यक्रम ...

दारू लेना नहीं। (पूर्ण रूप से काल्पनिक कहानी)
by Urvil Gor
  • 792

दारू लेना नहीं। (पूर्ण रूप से काल्पनिक कहानी) कॉलेज इसी जगह है जहां हम पूरी दुनिया का ज्ञान सीखते है। राहुल अपने दोस्तो से: अरे भाई ये  हमारी कॉलेज ...

अधूरी ख्वाहिश
by Roopanjali singh parmar
  • 1.4k

वो बस दोस्त बनना चाहती थी और बन गई .. भगवान से जैसे उसे सब कुछ मिल गया.. एक मन माँगी मुराद जो पूरी हो गई...........कनक नाम है इसका.. ...

परदेशिया (भाग-1)
by Amit Sharma
  • 539

रोहन जो इस कहानी का मुख्य पात्र है, के जीवन पर आधारित ये कहानी सम्पूर्ण रूप से नही, पर वास्तविकता से प्रेरित है। इस महीने बाइस साल का होने ...

नाटक-बहूधन
by ALOK SHARMA
  • 1.2k

नाटक- बहूधन लेखक- आलोक कुमार शर्मा दृश्य-1 (सेठ जी के घर पर एक व्यक्ति कमल अपनी पत्नी के साथ अपनी बेटी का रिस्ता लेकर आया है सभी बैठक रूम ...

आलसी शीनू
by Neerja Dewedy
  • 690

                           बाल नाटक---                                              आलसी शीनू लारी लप्पा लारी लप्पा लारी लप्पा ला आओ झूमें नाचें ज़रा. लारी लप्पा लारी लप्पा लारी लप्पा ला खायें पियें सोयें ज़रा. ...

सुरक्षा कवच
by Ajay Amitabh Suman
  • 783

छोटा भाई समझ नहीं पा रहा था कि वह क्या करें? वह अपने बड़े भाई के पास दब के रहता था। धीरे-धीरे उसके मन में कुंठा उपजने लगी। इसका ...

बंदर की आत्मकथा
by Deepak Antani
  • 1.9k

This is a one act play where in THREE WISE MONKEYS of Mahatama Gandhi wants to talk about their origin as wise monkeys. Mahatma Gandhi himself comes and helps ...

जिंदगी
by Udit Ankoliya
  • (17)
  • 1k

the story of life in poetry but the tone of this poem is like a rap song .so if u read it like poem sometimes u miss tone but ...

ज़िन्दगी की जंग जीतकर आई एक परी
by Shaifali (Naayika)
  • (11)
  • 851

(1) कुछ रिश्ते खून के होते हैं, कुछ रिश्ते समाज में रहते हुए संबोधन के होते हैं और कुछ रिश्ते ऐसे होते हैं जो ज़हन में उगते रहते हैं, ...

प्यार की सिमा - 4
by Sanjay Nayka
  • (38)
  • 1.6k

फिर प्यार हो गया एक लव स्टोरी नाटक है एक नाटक को मैने 4 विभागो में पब्लिश कर रहा हुं आशा करता हुं आपको ...

प्यार की सिमा - 3
by Sanjay Nayka
  • (24)
  • 2.2k

फिर प्यार हो गया एक लव स्टोरी नाटक है एक नाटक को मैने 4 विभागो में पब्लिश कर रहा हुं आशा करता हुं आपको ...

प्यार की सिमा - 2
by Sanjay Nayka
  • (22)
  • 2.6k

फिर प्यार हो गया एक लव स्टोरी नाटक है एक नाटक को मैने 4 विभागो में पब्लिश कर रहा हुं आशा करता हुं आपको ...