Hindi new released books and stories download free pdf

    दीवाना राजा
    by प्रवीण बसोतिया

    कलयुग की शुरुआत से पहले ही महाभारत का युद्ध हुआ। ये कहने अति सहज होगा। कि नारी की लाज स्वमं भगवान को बचानी पड़ी और द्रौपती को जब सभी ...

    दो बाल्टी पानी - 23
    by Sarvesh Saxena

    गुप्ता जी ने पिंकी की ओर घूरकर देखा और बोले “ अरे पिंकिया का जरूरत थी ऐसी आंधी पानी में पानी भरने की वह भी अंधेरे में, अरे हमें ...

    रोबोट वाले गुण्डे (6)
    by राज बोहरे

    रोबोट वाले गुण्डे बाल उपन्यास  राजनारायण बोहरे   6              उधर से प्रो. दयाल की आवाज़ थी।              अंदर से घबराते हुये भी उन्होंने बड़े इत्मीनान से दयाल साहब ...

    घर की मुर्गी - पार्ट- 5
    by AKANKSHA SRIVASTAVA

    वक़्त के साथ गौरी भी बड़ी होने लगी। और मैं बिल्कुल निःसहाय। जहाँ एक ओर बाकी घरवाले चैन की नींद सोते होते वही राशि ना तो नीद पूरी ले ...

    आधी दुनिया का पूरा सच - 21
    by Dr kavita Tyagi

    आधी दुनिया का पूरा सच (उपन्यास) 21. एकाधिक योग्य एवं अनुभवी स्त्री-रोग-विशेषज्ञ के परामर्श से सहमत होते हुए अन्त में पुजारी जी ने यही निर्णय लिया कि अब वे ...

    बंशो मुझे अच्छी लगने लगी
    by राजनारायण बोहरे

    कहानी                            बंशो मुझे अच्छी लगने लगी    राजनारायण बोहरे   प्रिय सुरेश,                               ये क्षेत्र छत्तीसगढ़ कहलाता ...

    मानसिक रोग - 10
    by Priya Saini

    आनन्द की देह को सामने देखकर श्लोका निरंक खड़ी रहती है। दूसरी ओर आनन्द के पिता अपने कलेजे पर पत्थर रखकर उसके अंतिम संस्कार की तैयारी करते हैं। थोड़ी ...

    पता, एक खोये हुए खज़ाने का - 13
    by harshad solanki

    आखिर वे उस द्वीप के नजदीक पहुँच गए. अभी किनारा काफी अंतर पर था. दूर से देखा, द्वीप घने जंगलों से भरा पड़ा था. लगता था, यह द्वीप मानव ...

    हारा हुआ आदमी(भाग 6)
    by किशनलाल शर्मा

    और कुछ देर बाद,इंजन की सिटी के साथ ट्रेन प्लेटफार्म से सरकने लगी थी।धीरे धीरे स्टेशन पीछे छूट गया।ट्रेन की रफ्तार बढ़ने लगी थी। देवेन खिड़की के पास बैठा था।वह ...

    दिल ऐ नूर
    by મોહનભાઈ આનંદ

    ========दिल ए नूर, टपकता है टपक टपक,मन कहीं चमकता है, चमक चमक;आइना ए दिल। , रोशन चांद सूरज,रुह ए दिल जिंदगी है ,लपक झपक;====================

    सलीब पर टंगा प्रश्न
    by Sudha Adesh

    सलीब पर टंगा प्रश्ननिशा आफिस के पश्चात् निधि को लेने स्कूल पहुँची, उसे देखते ही दौड़कर उसके पास आने वाली निधि ठीक से चल भी नहीं पा रही थी…उसे ...

    मेरा घर
    by Sunita Agarwal

    आज लगभग दो बर्ष का समय  हो गया है सुदेश और शो की बोलचाल बन्द हुए। ऐसा नहीं कि शोभा बोलती नहीं वो सुदेश की हर चीज़ का ख्याल ...

    कर्म पथ पर - 60
    by Ashish Kumar Trivedi

                            कर्म पथ पर                      Chapter 60 गांव की दस लड़कियां ...

    मन के मौसम
    by Dr. Vandana Gupta

    चैतन्यअभी बसंती बयार की आहट थमी नहीं थी, कि पतझर की सुगबुगाहट शुरू हो गई थी। ऋतु परिवर्तन सिर्फ बाहरी वातावरण में नहीं होता, एक मौसम मन के भीतर ...

    कॉपोरेट्स के व्यूह में स्त्री
    by Neelam Kulshreshtha

    कॉपोरेट्स के व्यूह में स्त्री [ नीलम कुलश्रेष्ठ ] "इस समाज में कैरियर ओरिएंटेड लड़कियों के लिए कोई ख़ास जगह नहीं है। "ये है फ़िल्म ' कॉर्पोरेट ' हीरोइन ...

    मिले जब हम तुम - 13
    by Komal Talati

                             भाग - १३                           प्रिय पाठकगण !! नमस्ते.... आप सभी का दिल से शुक्रिया अदा करती हु कि आप सबको मेरी कहानी... " मिले जब हम ...

    देखना फिर मिलेंगे - 1 - वह पहली मुलाकात
    by Sushma Tiwari
    • 122

    पिछले स्टॉप से बस छूटी तो सर पर चढ़ी धूप ठंडी हो चली थी। खिड़की से अब ठंडी हवा आने लगी थी। दिन भर की गर्मी और उमस ने ...

    पूर्ण-विराम से पहले....!!! - 4
    by Pragati Gupta
    • 158

    पूर्ण-विराम से पहले....!!! 4. घर में सामान सेट होने के बाद समीर और शिखा ने आस-पास रहने वाले पड़ोसियों से मिलने का सोचा| सबसे पहले समीर और शिखा ने ...

    गवाक्ष - 10
    by Pranava Bharti
    • 39

    गवाक्ष 10= प्रतिदिन की भाँति उस दिन भी चांडाल-चौकड़ी अपनी मस्ती में थी कि एक हादसे ने सत्यव्रत को झकझोर दिया, उसे जीवन की गति ने पाठ पढ़ा दिया। एक ...

    पागल
    by Swapnil Srivastava Ishhoo
    • 104

    पागल (पार्ट 1): एंग्री यंग मैन बड़े कॉलर की शर्ट और बेलबॉटम पतलून, उम्र अठ्ठाईस, हाईट पांच फुट तीन इंच और चेहरे पर अस्सी के अमिताभ वाला एंग्री यंग ...

    पूर्णता की चाहत रही अधूरी - 12
    by Lajpat Rai Garg
    • 251

    पूर्णता की चाहत रही अधूरी लाजपत राय गर्ग बारहवाँ अध्याय नवम्बर के अन्तिम सप्ताह का शुक्रवार। हरीश जब शाम को घर पहुँचा तो सुरभि ने चाय तैयार कर रखी ...

    बात ना करो जात की - 2
    by Maya
    • 118

    तभी चाची की नजर मुझ पर पड़ती है और कहती अच्छा बिटिया जरा बांस वाली को खाना देते आना  मैं जाती हूं बास बलि के हाथों में चुपचापखाना की ...

    रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड - 3 - 2
    by प्रेम पुत्र
    • 34

    रहस्यों से भरा ब्रह्माण्ड अध्याय 3 खण्ड 2 गजेश्वर राज्य में अब्दुला नाम का एक गरीब किसान था जिसकी एक सुंदर बीवी और एक तेरह वर्षीय बेटी थी। अब्दुल्ला ...

    वक़्त
    by दिया
    • 85

    " कितनी देर से फोन कर रही मगर आपको फोन उठाने का भी वक़्त नहीं है " डॉक्टर मानस को गुस्से से यह बात बोलते हुए दिया की आंखो ...

    उर्वशी - 13
    by ज्योत्सना कपिल
    • (17)
    • 460

    उर्वशी ज्योत्स्ना ‘ कपिल ‘ 13 पूरे रास्ते वह मौन रही, शिखर बार बार उसे देखते और फिर दुखी हो जाते। उसके जाने का ख्याल उन्हें परेशान कर रहा ...

    खौफ़...एक अनकही दास्तान - भाग - 3
    by Akassh Yadav Dev
    • 49

    प्रिय पाठकजन... कहानी के दोनों भाग को पढ़कर अपना प्यार देने के लिए आप सभी को धन्यवाद। अब तक आपने पढ़ा तीस वर्षीय खूबसूरत रईस नौजवान लड़का एक सड़क ...

    जननम - 11
    by S Bhagyam Sharma
    • 108

    जननम अध्याय 11 गुणों में कोई अंतर ही न हो तो जोड़ी बन सकती है क्या ? जहां तक उसे पता है उमा में कोई भी कमी नहीं थी। ...

    दह--शत - 16
    by Neelam Kulshreshtha
    • 122

    दह--शत [ नीलम कुलश्रेष्ठ ] एपीसोड --16 समिधा जल्दी से बोली, “फ़िल्म का नाम तो मुझे भी याद नहीं आ रहा लेकिन इस फ़िल्म में हेमामालिनी केमिस्ट्री की लेक्चरार ...

    बाँकी
    by Deepak sharma
    • 202

    बाँकी अपने बांकपन और सौन्दर्य को लेकर बुआ बेशक शुरू से बहुत सतर्क रहती आयों थीं किन्तु जब से एक टी.वी. चैनल ने अपने पुरस्कार समारोह में उन्हें ‘बेस्ट ...

    ये दिल पगला कहीं का - 15
    by Jitendra Shivhare
    • 94

    ये दिल पगला कहीं का अध्याय-15 "कोई बात नहीं दीपक। आपकी असहमती मुझे स्वीकार है। मैंने अपने हृदय की बात आपसे कह दी। मेरे लिए यही बहुत बड़ी बात ...