विजय कुमार नाम है विनित कहलाता हूँ , जो दिखे उसे लेखन से दिखलाता हूँ , जो सूझे उसे बतलाता हूँ , न केवल प्रेम बल्कि दुःख , दर्द व् तकलीफों के गीत गुनगुनाता हूँ , मूलतः जयपुर वासी हूँ इसलिए जयपुरिया कहलाता हूँ , धर्म से हिन्दू हूँ पर स्वयम को इन्सान मानता हूँ , जाति से ब्राह्मण पर में अपने आप को आर्य समझता हूं

    • (7)
    • 297
    • (23)
    • 1.8k
    • (18)
    • 693
    • (17)
    • 1.2k
    • (21)
    • 785
    • (24)
    • 1.2k
    • (18)
    • 924
    • (19)
    • 1k
    • (22)
    • 1.1k