मन में उमड़ते भावों को शब्दों में ढालने का प्रयास रहता है और अच्छा लगता है जब दिल से बस यूँ ही लिखे को सुधीजनों का आशीर्वाद मिलता है

    • (1)
    • 153
    • (19)
    • 294
    • (8)
    • 216
    • (12)
    • 352
    • (13)
    • 290
    • (12)
    • 331
    • (13)
    • 329
    • (11)
    • 303
    • (11)
    • 308
    • (17)
    • 346