प्रयोगवादी होकर रचनात्मक कार्य करते रहना ही तेज को तेज़ प्रदान करती है. पेशे से पत्रकारिता में सक्रिय. लेखन तब से शुरू की है जब से लगा. पढ़ना - लिखना हमें स्वयं से साक्षात्कार कराती है. बेहतर इंसान बनाती है. छत्तीसगढ़ राज्य में जन्म भूमि राज्य है. तो छत्तीसगढ़ी में भी लिखते हैं. हिंदी से प्रेम यानी हिंदी है हम... सदैव सभी भाषाओं का सम्मान करना चाहिए. बाकी खुली किताब है हम पन्ने पढ़ते रहने के लिए. जब मन करें संवाद कर सकते है आप - FB में "तेज साहू" के नाम से और इंस्टाग्राम पर "Tejlucent" नाम से है.