Ujadata aashiyana - jivan path - 4 by Mr Un Logical in Hindi Magazine PDF

उजड़ता आशियाना - जीवन पथ - 4

by Mr Un Logical in Hindi Magazine

किसी ने क्या खूब कहा है।जन्म हुआ तो मैं रोया और लोग हँसे, मौत आयी तो सब रोये मैं चैन से सोता रहा।ऊँची नीची जीवन पथ पर चलते चलते, हँसते रोते जन्म मरण का केल चला।जीवन की प्रति समर्पण ...Read More