Hanuva ki Patni - 4 by Pradeep Shrivastava in Hindi Novel Episodes PDF

हनुवा की पत्नी - 4

by Pradeep Shrivastava Verified icon in Hindi Novel Episodes

‘वही जो अब मैं हूं। थर्ड जेंडर। उस समय तो यह शब्द सुना भी नहीं था। तब के शब्द में हिजड़ा। उसी समय से मेरी आवाज़ के साथ-साथ अब शरीर भी लड़कियों सी स्थिति में आने लगा। मेरे लड़कियों ...Read More