deshee daaroo kee bhaththee - 2 by shekhar kharadi Idariya in Hindi Social Stories PDF

देशी दारू की भठ्ठी - 2

by shekhar kharadi Idariya Verified icon in Hindi Social Stories

अब बाबू की पत्नी चूपचाप दबे पांव घर की ओर हड़बड़ी में वापस लौट गई, क्योंकि बाबू खाट में बिमार पड़ा था । जो अब जोर जोर से खांस रहा था, तभी उसकी जोरू मटकी पास जाकर कहती है ...Read More