Pincode by महेश रौतेला in Hindi Letter PDF

पिनकोड

by महेश रौतेला in Hindi Letter

पिनकोड:मैं किसी काम से हल्द्वानी बाजार गया था। बस स्टेशन से गुजर रहा था, नैनीताल की बस पर नजर पड़ी, सोचा नैनीताल घूम कर आऊँ। बिना उद्देश्य कहीं जाना भी मन को आन्दोलित तो करता है।बस में बैठ गया। ...Read More