Kabhi yu bhi to ho - 2 by प्रियंका गुप्ता in Hindi Social Stories PDF

कभी यूँ भी तो हो... - 2

by प्रियंका गुप्ता in Hindi Social Stories

दो-तीन दिनो तक मेरी हिम्मत ही नहीं हुई थी सागर को फोन करने की...फिर आखिरकार फोन कर ही दिया। उसने फोन उठाया भी...बात भी की...। नाराज़ तो था, पर जाहिर नहीं कर रहा था...। न ही फोन काटने की ...Read More