Parinita - 1 by Sarat Chandra Chattopadhyay in Hindi Social Stories PDF

परिणीता - 1

by Sarat Chandra Chattopadhyay Matrubharti Verified in Hindi Social Stories

विचारों में डूबे हुए गुरूचरण बापु एकांत कमरे में बेठें थे। उनकी छोटी पुत्री ने आकर कहा-‘बाबू! बाबू। माँ ने एक नन्हीं सी बच्ची को जन्म दिया है।’ यह शुभ समाचार गुरूचरण बाबू के हृदय में तीर की भाति ...Read More