Thodi der aur thahar by Prabodh Kumar Govil in Hindi Classic Stories PDF

थोड़ी देर और ठहर

by Prabodh Kumar Govil Verified icon in Hindi Classic Stories

लम्बी कहानी-"थोड़ी देर और ठहर" -नहीं-नहीं, जेब में चूहा मुझसे नहीं रखा जायेगा. मर गया तो? बदन में सुरसुरी सी होती रहेगी. काट लेगा, इतनी देर चुपचाप थोड़े ही रहेगा? सारे में बदबू फैलेगी. कहीं निकल भागा ...Read More