AANSU TERE PREM KE (LAGHU KATHA) by हेतराम भार्गव हिन्दी जुड़वाँ in Hindi Classic Stories PDF

आँसू तेरे प्रेम के (लघु कथा)

by हेतराम भार्गव हिन्दी जुड़वाँ in Hindi Classic Stories

आंसू तेरे प्रेम के एक स्मृति जिसे मन कभी भूला ना सका। तीस बर्षों बाद साहित्य की पत्रिका पढते हुए अनायास एक अभिनन्दन पत्र पर नजरें पड़ी। पढ़ते पढ़ते रोम रोम रोने लग गया। बेटे ने ...Read More