Arundhati by Roopanjali singh parmar in Hindi Love Stories PDF

अरुंधति

by Roopanjali singh parmar Matrubharti Verified in Hindi Love Stories

विजय.. विजय.. दरवाजा खोलो.. विजय.. अरे अरु तुम.. इतनी रात को मेरे कमरे में आई हो सब ठीक है ना? (विजय ने दरवाजा खोलते ही पूछा) विजय मैं कैसी लग रही हूँ.. (अरुंधति ने पूछा) सच में अरु हद ...Read More