Gandh-mukti by Geeta Shri in Hindi Social Stories PDF

गंध-मुक्ति

by Geeta Shri Matrubharti Verified in Hindi Social Stories

गंध-मुक्ति गीताश्री अस्पताल के कारीडोर में बैठे बेठे सपना ऊब गई थी। लगातार लोगों की आवाजाही लगी थी। अपनी पारी का इंतजार करती हुई उसने आंखें मूंद कर पीछे दीवार से सिर टिका दिया। उसे अंदाजा था कि उसका ...Read More