wah jo ajnabi tha by Angelgirl in Hindi Love Stories PDF

वह जो अजनबी था

by Angelgirl in Hindi Love Stories

वह बेकरारी से बिस्तर पर करवटें बदल रही थी। दिल को किसी पल सुकून न था। सांसे बोझल महसूस हो रही थीं और आंखो से नींद गायब थी। नींद भी कितनी प्यारी चीज़ है अगर महेरबान हो जाए तो ...Read More