Dastango - 2 by Priyamvad in Hindi Social Stories PDF

दास्तानगो - 2

by Priyamvad in Hindi Social Stories

दास्तानगो प्रियंवद २ राजाओं, नवाबों, सामंतों के ब्राह्मण मुंशी या दीवान उनकी जागीरों की आमदनी और खर्च का हिसाब किताब भी रखते थे। वे इन जागीरों की देखभाल या तो ठीक से कर नहीं पाते थे या पिफर उसकी ...Read More