Such a big truth (part 2) by किशनलाल शर्मा in Hindi Social Stories PDF

इतना बड़ा सच(भाग 2)

by किशनलाल शर्मा Matrubharti Verified in Hindi Social Stories

वह कुछ चिड़चिड़ी हो गई थी।शायद सास बनते ही औरत में कुछ गुण स्वत् ही आ जाते है।राम बाबू कपड़े बदलते हुए मन ही मन सोच रहे थे।पंकज के लिए बहुत रिश्ते आये थे।एक से बढ़कर एक।उनका साला राकेश ...Read More