कुछ चित्र मन के कैनवास से - 18 - लेक मेरी

by Sudha Adesh Matrubharti Verified in Hindi Travel stories

लेक मेरी लेक मेरी से मियामी पास ही था किंतु इतना भी पास नहीं कि 1 दिन में जाकर लौटकर आया जा सके । हमारी प्लानिंग में थोड़ी कमी रह गई थी । हमारे पास आज का पूरा दिन ...Read More