Bewajah ke khayal - 2 by Merikhanii in Hindi Novel Episodes PDF

बेवजहा के ख़याल - 2

by Merikhanii in Hindi Novel Episodes

मेरा एक दोस्त कहता था उसका बचपन से ख़्वाब था कि दिल्ली के किसी अच्छे कॉलेज में पढ़े और उसकी एक गर्लफ़्रेंड हो जिसे वो रोज़ शहर घुमाए।मैं उससे कहता था मैं कहानियों के जैसा होना चाहता हूँ जिसे ...Read More