Vah ab bhi vahi hai - 6 by Pradeep Shrivastava in Hindi Novel Episodes PDF

वह अब भी वहीं है - 6

by Pradeep Shrivastava Matrubharti Verified in Hindi Novel Episodes

भाग - 6 समीना फिर वह दिन भी आया, जब मेरा मन सेठ के प्रति घृणा से भर गया, और मैं तन्खवाह मिलते ही रात में ही अपना बोरिया-बिस्तर समेट कर रफूचक्कर हो लिया। इतनी घृणा इसलिए हुई कि, ...Read More