अनोखी दुल्हन - (साथ और साथी) 41

by Veena Matrubharti Verified in Hindi Love Stories

वीर प्रताप अपने कमरे में बैठा था।" अजीब है। या तो वह पागल है ? या तो मैं पागल हो रहा हूं ? मेरे साथ हंसती है। मेरे साथ रोती है। उसे फिक्र है मेरी। लेकिन जब कभी भी ...Read More